UXV Portal News Himachal Pradesh View Content

10 वर्ष बाद बारांगल को बिजली मिलेगी।

2021-10-27 07:37| Publisher: Bruncha| Views: 1382| Comments: 0

Description: कांगड़ा जिले के दूरवर्ती बारा बंगल गांव में हेलीकॉप्टर से सौर पैनल ले जा रहे हैं। फोटोः रविन्द्र सुद...

सौर पैनल को कांगड़ा जिले के दूरवर्ती बारांगल गांव में हेलीकॉप्टर से ले जाया जा रहा है। फोटोः रविन्द्र सुद

ट्रिब्यून रिपोर्टर्स

धर्मशाला/पालमपुर, 26 अक्तूबर

कांगड़ा जिले के सबसे दूरवर्ती गांव बारांगल के निवासियों को 10 वर्ष बाद बिजली की आपूर्ति मिलेगी।

जिला प्रशासन ने गांव में सौर पैनल आधारित ऊर्जा प्रणाली स्थापित करने की योजना बनाई है।

सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां ट्रिब्यून को बताया कि बिजली इंजीनियरों और प्रशासनिक अधिकारियों का एक दल 168 सौर पैनलों और बैटरियों के साथ बारांगल पहुँचा। टीम गांव में रहेगी और परियोजना 10 दिनों में स्थापित की जाएगी। यह परियोजना सरकारी उद्यमHIMURJA द्वारा प्रबंधित की जा रही थी।

मुख्य मंत्री जय राम ठाकुर इस परियोजना की प्रगति पर नजर रख रहे हैं। बारांगल के निवासियों ने तीन महीने पहले धर्मशाला में उनसे मुलाकात की थी और इस मुद्दे पर जोर दिया था। बाद में सीएम ने डीसी को सर्दियों के आरंभ से पहले गांव को बिजली प्रदान करने का निदेश दिया।

सरकार ने 90 के दशक में जब स्वर्गीय कांग्रेस नेता पंडित संत राम बाईनाथ से एमएलए थे तब गांव में 40 केवीए हाइड्रो पावर संयंत्र स्थापित किया था। तथापि, यह पिछले 10 वर्षों से अकार्यात्मक रहा है।

बारांगल धौलाधार पहाड़ियों में स्थित है और गांव तक पहुंचने के लिए पर्वतीय मार्गों से कम से कम 70 कि. मी. पैदल जाना पड़ता है। इसकी जनसंख्या 400 है।

उपनियुक्त निपुन जिंदल गांव के विकास में व्यक्तिगत रुचि रख रहे हैं।


Pass

Oh No

Hand Shanking

Flower

Egg
no comment yet, Be the first to comment!