UXV Portal News Gujarat View Content

गुजरात से अनुपस्थित 50 प्रतिशत से अधिक बच्चों का पता नहीं चला है।

2021-10-28 10:29| Publisher: Ripleya| Views: 2731| Comments: 0

Description: केवल प्रतिनिधित्व के लिए प्रयुक्त छवि अहमदाबाद: राज्य के विभिन्न भागों से शिशुओं को बेचने और लाने और बच्चों को छीनने की आशंका के समाचारों से राज्य की...

केवल प्रतिनिधित्व के लिए प्रयोग किया गया छवि
अहमदाबाद: राज्य के विभिन्न हिस्सों से शिशुओं को बेचने और निकालने के समाचार और बच्चों को छीनने का भय पूरे समाज का चिंताजनक चित्र प्रस्तुत करते हैं, लेकिन यह राज्य की गैर जिम्मेदारीपूर्ण दृष्टिकोण को भी चित्रित करता है जिसमें 14 वर्ष से अधिक आयु के अनुपस्थित बच्चों के बारे में चिंताजनक आंकड़े हैं जो यह सुझाव देते हैं कि आधे अनुपस्थित बच्चों ने कभी नहीं लौटा है।
सीआईडी के आंकड़ों के अनुसार, राज्य ने कम से कम पांच वर्षों से एक धकेलने वाली प्रवृत्ति का अवलोकन किया है, जिसमें 14 वर्ष से अधिक की अनुपस्थित बच्चों को नहीं पाया गया है।


2020 और 2021 के कोविड वर्षों में भी बच्चे गायब हो गये थे और उनमें से आधे को खोजा नहीं जा सका। आंकड़ों से पता चलता है कि सितंबर 2021 तक 255 लड़कों और 407 लड़कियों की गुमराही हुई, लेकिन पुलिस ने केवल 113 लड़कों और 193 लड़कियों को पाया। इस प्रकार कुल 662 बच्चों में से 306 बच्चों को, जिनकी अनुपस्थिति की सूचना दी गई थी, पुलिस ने नहीं पाया।
वर्ष 2020 में 305 लड़कों और 563 लड़कियों सहित कुल 868 लोग गायब हो गये थे। उनमें से केवल 410 लड़के और 270 लड़कियों सहित पाए गए। इसलिए, 165 लड़कों और 293 लड़कियों सहित 458 बच्चों को पुलिस द्वारा खोजा नहीं जा सका।
इसी प्रकार के आंकड़ों को 2019, 2018 और 2017 में देखा जा सकता है, लेकिन 2020 और 2021 में महामारी के बाद के बंद किए जाने, रात की रोकथाम और सार्वजनिक गतिविधियों को रोकने के लिए पुलिस की अधिक तैनाती जैसी परिस्थितियों को देखा जा सकता है।
एनिल प्रताप एडीजीपी आईडीआईडी अपराध, बाल और महिला कक्ष ने कहा, ‘‘हमारे विभाग के आंकड़ों से पता चलता है कि लगभग 92-93 प्रतिशत अनुपस्थित बच्चों की वापसी हो जाती है। मुझे प्रकाशित आंकड़ों की जांच करनी होगी। "
फेसबूक ट्विटर लिंकेडिन ई-मेल

Pass

Oh No

Hand Shanking

Flower

Egg
no comment yet, Be the first to comment!